अगर आप खाते हैं ज्यादा नमक तो होगा बड़ा नुकसान, जानिए कितना नमक खाना रहेगा बेहतर

खाने मे नमक की मात्रा ज्यादा हो जाऐ, तो खाने का पूरा स्वाद खराब हो जाता है.  उसी तरह अगर शरीर मे ज्यादा मात्रा मे नमक जाने लगे तो सेहत को पूरी तरह से नुकसान पहुँचता है. नमक के ज्यादा सेवन से आपको कई तरह की बीमारिया हो सकती है. 

Salt
नमक

एक दिन मे कई ऐसी चीजे खाते है, जिसमे नमक होता है. ज्यादा नमक आपके स्वास्थ्य के लिए नुकसान दायक होता है. इसलिए नमक कम खाना चाहिए. कई लोगो को नमक ज्यादा खाने की आदत होती है. ज्यादा नमक उनके शरीर के लिए खतरनाक है. क्या आप जानते हो नमक सही मात्रा मे ना खाया जाये तो आपको बहोत बीमारिया हो सकती है. ज्यादा नमक खाने जैसे शरीर के लिए नुकसानदायक  होता है. उसी तरह कम नमक खाना भी शरीर के लिए नुकसानदायक होता है. आइए जानते है एक दिन मे हमें कितना नमक खाना चाहिए. 


हमारे शरीर को स्वस्थ रहने के लिए जैसे पोषण तत्व की जरूरत होती है. वैसे ही सोडियम की भी जरूरत होती है. सोडियम नमक मे ज्यादा मात्रा मे पाया जाता है. इसलिए नमक का सेवन हमारे शरीर के लिए बहोत जरुरी है. अमेरिकन हर्ट असोशिएशन के अनुसार, एक व्यक्ति को 1500 मिलीग्राम से 2000 मिलीग्राम से ज्यादा सोडियम नही लेना चाहिए. अधिक लेने से ब्लड प्रेशर जैसी बीमारिया हो सकती है. ज्यादा नमक से हार्ट की बीमारिया भी हो सकती है. 



वैसे ही कम मात्रा मे नमक खाने से भी हमारे शरीर को नुकसान हो सकता है. इसलिए पूरी तरह से सेहतमंद व्यक्ति को हर दिन 6 ग्राम से भी कम यानी कम चम्मच नमक की जरूरत होती है. 6 ग्राम से भी कम मतलब 5 ग्राम तक नमक खाना जरुरी है. लेकिन भारतीय विभिन्न माध्यमोसे 8 से 10 ग्राम तक नमक खाना लेते है.हालांकि उच्च रक्तचाप के शिकार व्यक्ति को प्रतिदिन एक चम्मच से कम यानी 1600 मिलीग्राम नमक खाना चाहिए. 



ज्यादा नमक खाने से कई बीमारिया हो सकती है. ज्यादा नमक खाने से दिल की बीमारिया के खतरे को बढ़ा देता है. इसके साथ ही ज्यादा नमक खाने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या भी हो सकती है. और डिहाइड्रेशन की भी समस्या हो सकती है. शरीर मे नमक की मात्रा ज्यादा होने पर पानी जरूरत से ज्यादा जमा हो जाता है. यह स्थिति पर वाटर रिटेशन  का प्रॉब्लम हो सकता है. 


ऐसे स्थिति मे हाथ, पैर और चेहरे पर सूजन हो सकती है. हालांकि एक बात याद रखे आप कम मात्रा मे नमक सेवन करते हो तो ये भी बीमारियों बढ़ा सकता है. आयोडीन की कमी से बीमारी होने पर समय पर इलाज ना किया जाये तो गंभीर खतरा बन सकता है. नमक की कमी होने पर भी हार्ट का खतरा बढ़ जाता है. हार्ट फेल होने की संभावना रहती है. इसलिए नमक 6 ग्राम से ज्यादा यानी 1500 मिलीग्राम से 2000 मिलीग्राम तक नमक खाना चाहिए.