शरीर में ठंडक पैदा करना का योगासन

जैसे ही मौसम बदलता है, आपकी जीवनशैली में काफी परिवर्तन आता है। अब जब मौसम में तेजी से बदलाव आ रहा है और आप दिन के समय कडी धूप का अहसास करने लगे हैं तो यह बेहद आवश्यक है कि आप अपने शरीर के तापमान को बनाए रखें। इसके लिए आप खान-पान के अतिरिक्त योगासन की मदद भी ले सकते हैं। खासतौर से शीतली प्रणायाम आपके शरीर में गर्मी के स्तर को कम करने में मदद करते हैं। तो चलिए जानते हैं इस योगासन के बारे में

yoga



शीतली प्रणायाम को गर्मी के मौसम में करने से विशेष रूप से लाभकारी माना जाता है। इस प्राणायाम से रक्त शुद्ध होता है। बल और सौंदर्य बढ़ता है। यह उच्च रक्तचाप और अम्ल में रामबाण का काम करता है। चिड़चिड़ापन, बात-बात में क्रोध आना, तनाव तथा गर्म स्वभाव के व्यक्तियों के लिए यह विशेष लाभप्रद होता है। वैसे तो यह योगासन हर व्यक्ति के लिए लाभकारी है, इसलिए निम्न रक्तचाप, अस्थमा, ज्यादा कफ वाले और गले के रोगी इसका अभ्यास न करें।


इसके लिए पद्मासन या फिर सुखासन में बैठ जाएं। दोनों हाथ की अंगुलियों को ज्ञान मुद्रा में दोनों घुटनों पर रखें, आंखें बन्द करें। कमर, गर्दन और मेरुदंड को बिल्कुल सीधा रखें। उसके बाद जीभ को नली के समान गोल बनाते हुए आवाज के साथ सांस भरें। इसके बाद आंखें बंद करते हुए अपनी क्षमतानुसार श्वास रोकें। फिर बिना आवाज किए दोनों नासिका के छिद्रों से श्वास बाहर निकालें। यह इस प्राणायाम का एक चक्र हुआ।यह परक्रिया बार-बार करने से आपको अंदर से ठंडी महशुस होगा।