फर्जी PAN CARD को ऐसा करे पहचान, जाने क्या है असलियत ?

किसी भी आर्थिक लेन-देन के लिए पैन कार्ड PAN Card एक बेहद अहम दस्तावेज बन चुका है। इसका उपयोग बैंक अकाउंट खुलवाने से लेकर प्रॉपर्टी खरीदने-बेचने, वाहन खरीदने-बेचने, आयकर रिटर्न दाखिल करने सहित कई अन्य जरूरी कामों में किया जाता है। 2 लाख से ज्यादा की ज्वेलरी खऱीदने में भी पैन कार्ड की कॉपी देना अनिवार्य है। इस जरूरी दस्तावेज के भी फर्जी बनने के मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में आपकी सतर्कता ही आपका बचाव हो सकती है। हालांकि कुछ सरल तरीके हैं जिससे आसानी से आपके पैन कार्ड के असली या फर्जी होने की पहचान की जा सकती है।  

PAN-CARD


आयकर विभाग जारी करता है पैनकार्ड

आयकर विभाग (Income Tax Department) द्वारा पैन कार्ड जारी किया जाता है। 10 अंकों वाले पहचान संख्या वाले पैन कार्ड का इस्तेमाल लगभग हर आर्थिक लेन-देन में अनिवार्य कर दिया गया है। पैन कार्ड की उपयोगिता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आयकर विभाग ने इसे आधार से लिंक करना भी अनिवार्य किया है। पैन कार्ड हमारी पहचान का भी एक जरूरी दस्तावेज बन गया है।
ऐसे करें PAN Card की पहचान

- आयकर विभाग द्वारा संचालित आधिकारिक ई-फाइलिंग पोर्टल पर जाएं

- वेबसाइट के होमपेज पर 'वेरीफाई योर पैन डिटेल्स' का ऑप्शन मिलेगा, इस पर क्लिक करें

- इसके बाद यूजर्स को PAN Card से जुड़ी जरूरी जानकारियां भरनी होगी

- इसमें पैन नंबर, पैन कार्ड होल्डर का नाम, जन्मतिथि जैसी जानकारियां डालनी होगी

- जानकारी भरने के बाद पोर्टल पर मैसेज आएगा कि भरी जानकारी आपके पैन कार्ड से मैच करती है या नहीं

- जानकारी मैच करती है तो आपका पैन कार्ड सही है, वर्ना यह फर्जी है। 
फर्जी मामले बढ़ रहे हैं

देशभर में इन दिनों पैन कार्ड से जुड़े फर्जी मामले सामने आए हैं। जालसाज लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं। ऐसे में अपने पैन कार्ड की सत्यता जांचना जरूरी हो जाता है।

ऐसे बनवा सकते हैं पैन कार्ड

अब तक आपके पास पैन कार्ड नहीं है तो इसे बनवाने के लिए बेहद सरल तरीका अपनाना होगा। सबसे पहले इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट पर जाएं। E PAN के लिए अपना आधार नंबर देना होगा, जिससे ओटीपी जनरेट होगा और आपका कुछ मिनटों में ही E Pan जारी हो जाएगा।