क्या इंसान के मरने के बाद भी उसके फिंगर से मोबाईल को अनलॉक कर सकते हैं ?

आप सभी में से बहुत से लोगो के मोबाइल में फिंगर प्रिंट अनलॉक तो दिया ही होगा जिससे आपका मोबाइल लॉक और अनलॉक होता है | लेकिन क्या आपको पता है की किसी मरे हुए व्यक्ति के फिंगर प्रिंट से मोबाइल के लॉक को खोला जा सकता है या नहीं | यदि नहीं मालूम है तो कोई बात नहीं क्योकि आज हमलोग इसी के बारे में डिटेल्स में जानेंगें। इसके इस आर्टिकल अंत तक पढ़े आपके सभी सवालों का जवाब मिल जाएगा।
mobaile


क्या मरे हुए व्यक्ति के फिंगर प्रिंट से मोबाइल के लॉक को खोला जा सकता है ?

आपको बता दे की जो हम फिंगरप्रिंट सेंसर वाला स्मार्टफोन का उपयोग करते है , उसकी टेक्नोलॉजी इतनी एडवांस होती है की वो एक मरे हुए और एक जीवित व्यक्ति के बिच अंतर बड़े ही आसानी से कर सकता है | चौंका देने वाली बात यह है की यदि आप किसी मृत व्यक्ति के फिंगर को उसके ही फ़ोन के सेंसर पर टच कराएँगे तो वो फ़ोन अनलॉक नहीं होगा |आप सोचतें होंगे की सेंसर मरे हुए व्यक्ति को कैसे पहचान लेता हैं। तो आइये जानते हैं। 

इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण यह है कि मृत्यु के बाद जो हमारे फिंगरप्रिंट होते है , वो सिकुड़ने लगते है | अर्थात जीवित व्यक्ति का फिंगर और मरे हुए व्यक्ति का फिंगर के आकर में बदलाव हो जाता हैं। ईसी कारण यह फिंगरप्रिंट टेक्नोलॉजी एक मरे हुए और एक जीवित इंसान में अंतर समझ लेती है | इस तरह यह स्पस्ट है की एक मरे हुए व्यक्ति के फिंगरप्रिंट से फ़ोन को अनलॉक नहीं किया जा सकता है , भले वह फ़ोन उसका ही क्यों न हो |

हालाकिं आज के दुनिया में टेक्नोलोजी इतना बढ़ गया हैं कि किसी भी मोबाईल या लेपटोप का लोक को आसानी से उन्लोक हो जाता हैं। किसी मोबाईल को उन्लोक कोई साधारण इन्सान नही कर सकता है। ये सिर्फ वही कर सकता है जिसे टेक्नोलोजी का नोलेज हैं।