क्रिकेट इतिहास के 5 पिता-पुत्र की जोड़ियां, नंबर 1 पर आपको होगा गर्व

क्रिकेट इतिहास में बहुत सारे ऐसे खिलाड़ियों को देखा गया है, जिनके बच्चे भी क्रिकेट को अपना करियर बनाने की कोशिश की है, लेकिन उनमे से बहुत कम ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जो अपने पिता से बेहतर क्रिकेटर बन पाए हैं।


इसी वजह से आज हम आपको क्रिकेट जगत की 5 पिता-पुत्र की जोड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में आपमें से बहुत कम लोग जानते होंगे :-

1. योगराज सिंह और युवराज सिंह

Indian Cricketer


योगराज सिंह भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर हैं, लेकिन उनका प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा, जिस वजह से योगराज एक सफल क्रिकेटर नहीं बन पाए, लेकिन उनका पुत्र युवराज सिंह ने अपनी प्रदर्शन से लोगों का खूब दिल जीता। युवराज सिंह अपने क्रिकेट करियर में कई बड़े रिकॉर्ड बनाए हैं, जिस वजह से आज भी उनके बहुत सारे फैन्स हैं।

2. सुनील गावस्कर और रोहन गावस्कर


सुनील गावस्कर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज हैं, जिनके नाम भी कई बड़े रिकॉर्ड दर्ज हैं। सुनील गावस्कर टेस्ट क्रिकेट में सबसे पहले 10 हजार रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। वहीँ उनका पुत्र रोहन गावस्कर एक सफल क्रिकेटर बनने में नाकाम रहे, जिस वजह से वो टीम इंडिया के लिए सिर्फ 11 वनडे मैच खेल पाए।

3. विवियन रिचर्ड्स और मौली रिचर्ड्स


वेस्टइंडीज के पूर्व तूफानी बल्लेबाज विवियन रिचर्ड्स अपने क्रिकेट करियर में कई बड़े कारनामे किए हैं, जिस वजह से उनकी चर्चा आज भी होती है। बता दें कि विवियन रिचर्ड्स के पुत्र मौली रिचर्ड्स भी क्रिकेटर हैं, लेकिन वो अपने पिता की तरह सफल क्रिकेटर नहीं बन पाए।

4. कृष्णम्माचारी श्रीकांत और अनिरुद्ध श्रीकांत

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज कृष्णम्माचारी श्रीकांत टीम इंडिया के लिए 43 टेस्ट और 146 वनडे मैच खेले हैं, जिसमे उनका प्रदर्शन बेहद शानदार रहा है, लेकिन उनका पुत्र अनिरुद्ध श्रीकांत टीम इंडिया के लिए एक भी मैच नहीं खेल पाए हैं।

5. डेनिस लिली और एडम लिली


ऑस्ट्रेलिया के पूर्व घातक तेज गेंदबाज डेनिस लिली अपने क्रिकेट करियर में 70 टेस्ट और 63 वनडे मैच खेले हैं। उस दौरान उन्होंने अपनी गेंदबाजी से दुनिया के बहुत सारे बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता दिखाया। वहीँ उनका पुत्र एडम लिली अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक भी मैच नहीं खेल पाए हैं।