कोरोना संकट के बीच भारत के लिए आई खुशखबरी, जल्द भारत को मिलने वाली है टीका, जानें कीमत

पिछले साल चीन के वुहान शहर से कोरोना वायरस की शुरुआत हुई थी, लेकिन देखते ही देखते अब ये वायरस पूरी दुनिया के लिए खतरा बन चुका है, जिस वजह से इस समय पूरी दुनिया के लोग चिंता में पड़े हुए हैं, क्योंकि कोरोना वायरस की वजह से लोगों के लिए घर से बाहर निकलना भी मुश्किल हो गया है। 

coronavirus vaccine
कोरोना वायरस टीका 

इस समय पूरी दुनिया कोरोना वायरस के वैक्सीन खोजने में लगी है है, लेकिन किसी भी देश को इसमें सफलता हाथ नहीं लगी है। इस समय भारत भी कोरोना वायरस के वैक्सीन खोजने में जुटी हुई है और भारत की तरफ से इस समय एक अच्छी खबर सामने आ रही है, जिसके बारे में आपको जरुर जानना चाहिए। 

पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ अडर पूनावाला का कहना है कि अगर हमारा ट्रायल सफल रहा तो यह वैक्सीन इसी वर्ष सितंबर या अक्टूबर तक लोगों के सामने आ जाएगा। कोरोना वायरस के इस वैक्सीन की कीमत 1000 रुपये तक होने वाली है। 

अडर पूनावाला ने आगे कहा कि कोरोना वायरस के टीके के लिए जोखिम लेते हुए एडवांस परीक्षण से पहले ही इसके उत्पादन हम बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है और इसकी उत्पादन अगले महीने तक शुरू हो जाएगी। अगर हमारा यह ट्रायल सफल रहा तो ये वैक्सीन बहुत जल्द बाजार में आ जाएगा। 

उन्होंने आगे कहा कि कोरोना वायरस के इस टीके को बाजार में आने के लिए सितंबर-अक्टूबर तक का समय जरुर लग जाएगा। वहीँ इसकी कीमत सिर्फ 1000 रुपये होने वाली है। अडर पूनावाला ने आगे कहा कि हम कोरोना वायरस के टीका बनाने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। 

उन्होंने आगे कहा कि हमने इस वैक्सीन पर काम करना जारी कर दिया है और इस के लिए हमारे कारखाने में तकरीबन 500-600 करोड़ रुपये का निवेश किया जा चुका है। इसके अलावा अगले 2-3 साल में कोरोना वायरस के टीका पूरी तरह से फ़ैल जाएगा। 

पूनावाला आगे कहा कि हम फिलहाल हर महीने 40 से 50 लाख लाख डोज तैयार करने वाले है, लेकिन इसकी संख्या बढ़ाते हुए एक करोड़ तक ले जाना जरुरी है। ऐसे में उम्मीद है कि सितम्बर और अक्टूबर तक 4 करोड़ से अधिक डोज का उत्पादन आसानी से हो जाएगा।